Breaking News
Home / Bollywood / वीरेंद्र सहवाग ने उड़ाया रविंद्र जडेजा और धोनी का मजाक

वीरेंद्र सहवाग ने उड़ाया रविंद्र जडेजा और धोनी का मजाक

विरेंद्र सहवाग विस्फोट का दूसरा नाम है जिसके सामने विश्व के सभी गेंदबाज़ गेंदबाजी करने से कतराते हैं. जब उनका बल्ला चलता है तो पूरा स्टेडियम चौकों-छक्कों की बरसात से सराबोर हो जाता है. टेस्ट क्रिकेट हो या एकदिवसीय या फिर हो टी20 क्रिकेट विरेंद्र सहवाग दुनिया के किसी भी आक्रमण की बखिया उधेड़ सकता है.अपने पहले ही टेस्ट में शतक जड़ने वाले सहवाग की तुलना उनके आदर्श सचिन तेंदुलकर से की जाती है. लेकिन समय के साथ सहवाग ने साबित किया कि उनका अपना एक अलग स्टाइल है. सहवाग का खेल हैण्ड-आई कोऑर्डिनेशन पर आधारित है जिनका मूलमंत्र है कि अगर गेंद मारने वाली है हो उसे छोड़े क्यों. उनको तो यह पता है कि गेंद अगर गुड लेंथ में भी है तो वह रन बनाने के लिए है|

किसी भी क्रिकेटर की तरह जहां सहवाग का अच्छा समय रहा है तो बुरा समय भी रहा है. 2007 के विश्व कप के बाद वह लंबे समय तक भारतीय टीम से अलग भी रहे लेकिन एक बेहतरीन क्रिकेटर की तरह उन्होंने ज़बरदस्त वापसी भी की. पिछले वर्ष टेस्ट क्रिकेट में उनका बल्ला इतना बोला कि उनको “टेस्ट क्रिकेटर ऑफ दी ईयर” के सम्मान से सम्मानित कर के गया.

Virender Sehwag ने जडेजा और धोनी को लेकर कसा तंज

आईपीएल 2022 में खेला गया पहला मुकाबला कोलकाता नाइडर्स ने जीता। केकेआर ने मौजूदा चैंपियन चैन्नई सुपर किंग्स को 6 विकेट से हराकर इस मुकाबले को अपने नाम किया। CSK के लिए वैसे तो इस मैच में ज्यादा कुछ खास रहा नहीं लेकिन, टीम के नए कप्तान रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) फिर भी सुर्खियों में रहे। आईपीएल के इतिहास में पहली बार कप्तानी कर रहे जडेजा पूरी तरह से कप्तानी के बोझ से दबे हुए नजर आए और उनके खेल में इसकी झलक देखने को भी मिली। पूर्व भारतीय खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग ने जडेजा की धीमी बल्लेबाजी को देखकर उनके साथ ही धोनी पर भी महज 10 सेकंड में तंज कसा है।

सहवाग ने एक जाने माने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘आज एक अजीब सी घटना हुई है। चैन्नई के कप्तान जो एम एस धोनी होते थे वो जडेजा की तरह बैटिंग करके गए हैं। और जडेजा जो चैन्नई के कप्तान हैं उन्होंने एम एस धोनी की तरह बल्लेबाजी की है आज। ये एक अजीबोगरीब घटना घटी है ये तो कप्तानी का प्रेसर हो सकता है जडेजा पर क्योंकि आमतौर पर जब जडेजा ऊपर आते थे तब वो तेज रन बनाते थे।‘

केकेआर के खिलाफ कप्तान जडेजा नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने के लिए आए थे। जडेजा ने 28 गेंदों का सामना किया और 92.86 की बेहद खराब स्ट्राइक रेट से महज 26 रन बनाए। जडेजा ने अपनी पारी के दौरान मात्र एक चौका जड़ा। वहीं गौर करने वाली बात ये थी कि जडेजा अंत तक नाबाद रहे थे।


वहीं नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने आए सीएसके के पूर्व कप्तान धोनी ने 40 साल से ज्यादा का होने के बावजूद नाबाद 50 रनों की पारी खेली। धोनी ने 38 गेंदों का सामना किया था। धोनी की इस पारी के बदौलत सीएसके ने पहली पारी में निर्धारित 20 ओवरों में 5 विकेट के नुकसान पर 131 रन बनाए थे। जवाब में केकेआर की टीम ने 18.3 ओवर में ही इस लक्ष्य को प्राप्त कर लिया। उमेश यादव ने 4 ओवर में 20 रन देकर 2 विकेट झटके उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया था।

About kavya Swaroop

Leave a Reply

Your email address will not be published.