Home / Bollywood / चारबाग स्टेशन पर आने वाली ट्रेनों को दूसरे रास्ते पर किया जाएगा शिफ्ट

चारबाग स्टेशन पर आने वाली ट्रेनों को दूसरे रास्ते पर किया जाएगा शिफ्ट

चारबाग रेलवे स्टेशन पर लगातार यातायात का दबाव बढ़ता ही जा रहा है। यहां बढ़ते यातायात के दबाव के कारण रेलवे को  भी परेशानी होने लग गई है। इस रूट पर यातायात दबाव कम करने के लिए अब रेलवे अलग रास्ते की तलाश कर रहा है।

कौन सा मार्ग बदला जाएगा ?

रेलवे प्रशासन एक ऐसे रूट की तलाश कर रहा है जिससे लखनऊ के चारबाग स्‍टेेेशन आने वाली कुछ ट्रेनों को दूसरे  किसी छोटे स्टेशनों पर शिफ्ट किया जा सके।रेलवे के नए रूट की परेशानियां बहुत ही जल्द कम हो सकती है।

उतरेटिया से चारबाग स्टेशन की ओर आने वाली तीन एक्सप्रेस ट्रेनाें को आलमनगर-उतरेटिया मालगाड़ी के बाईपास पर एक दिन के लिए डायवर्ट कर आपरेशन के दृष्टिकोण से अपना परीक्षण किया गया था।

अब रेलवे संरक्षा, परिचालन और वाणिज्य अनुभाग के अधिकारी इस परीक्षण पर अपनी रिपोर्ट बनाकर रेलवे बोर्ड को बहुत ही जल्द सौंप दिया जाएगा। उत्तरेतिया से आलमनगर तक 20 किलोमीटर की एक लाइन की मालगाड़ी का  एक बाईपास था। पिछले दिन रेलवे प्रशासन के द्वारा बाईपास की डबिंग का काम लगभग पूरा कर लिया गया है। अब इस सेक्शन पर माल गाड़ियों की संख्या भी बढ़ा दी  गई है।

क्या है पूरी योजना ?

चारबाग स्टेशन पर प्रतिदिन औसतन 280 ट्रेनों का संचालन होता आ रहा है। ऐसे में रेलवे की योजना है कि मुरादाबाद व बरेली की ओर से चारबाग स्टेशन आ कर सुलतानपुर और रायबरेली मार्ग पर जाने वाली कुछ ट्रेनों को आलमनगर स्टेशन पर ठहराव दिया जाए। यहां से इन ट्रेनों को ट्रांसपोर्टनगर स्टेशन के रास्ते उतरेटिया की ओर भेजा जाएगा। जहां से ट्रेनें सुलतानपुर और रायबरेली की ओर निकल सकती है ।  बहुत ही जल्द चारबाग रेलवे स्टेशन की बहुत सारी  गाड़ियों को अलग रूट कॉल डाइवर्ट कर दिया जाएगा ताकि चारबाग रेलवे स्टेशन पर भी थोड़ा बाहर कम हो सके ।

लखनऊ के तीन नंबर प्लेटफॉर्म के वॉशेबुल एप्रेन के पुनर्निर्माण के लिए ट्रैफिक ब्लॉक कर दिया जाएगा। इसलिए 21 फरवरी से सात अप्रैल तक संचालन प्रभावित हो चुका है ।

चारबाग स्टेशन के प्लेटफॉर्म तीन के वॉशेबुल एप्रेन के पुनर्निर्माण के लिए 21 फरवरी से सात अप्रैल तक ट्रैफिक ब्लॉक कर ही दिया जाएगा । इन 46 दिनों तक 36 ट्रेनों का संचालन  बहुत प्रभावित रहेगा। इसमें कई गाड़ियों को बदले मार्ग से चलाया जाएगा तो कई ट्रेनों को तीन नंबर की जगह बदले प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *