Home / Motivational / दिव्या सैनी कमाती हैं दिन के 41 हज़ार रूपये, आइये जानते हैं कैसे?

दिव्या सैनी कमाती हैं दिन के 41 हज़ार रूपये, आइये जानते हैं कैसे?

दिव्या सैनी सीकर राजस्थान की रहने वाली हैं. वह अभी सिर्फ 23 वर्ष की हैं, और जो मुकाम दिव्या ने इतनी कम उम्र में हासिल कर लिया है, आज उनके पिता का सिर गर्व से ऊँचा हो गया है. आज दिव्या के माता पिता, उनके रिश्तेदार, आस पड़ोस के लोग उनकी तारीफ करते नहीं थकते हैं, क्योंकि शायद ही कभी ऐसा देखने को मिलता है की कोई इतनी छोटी उम्र में ही इतना कुछ हासिल कर ले जिसकी हम में से बहुत सिर्फ कल्पना ही करते रहे जाते हैं. आज दिव्या ने अपनी मेहनत के बल पर जो मुकाम हासिल कर लिया है, उनके पिता गर्व से बोलते ‘म्हारी छोरी छोरों से भी आगे है’. आइये जानते हैं ऐसा क्या किया है दिव्या ने.

दिव्या सैनी

प्रतिदिन की सैलरी है 41 हज़ार रूपये, बहुत बड़ी कंपनी में करती हैं दिव्या सैनी जॉब

दिव्या शुरू से ही एक बहुत ही होशियार विद्यार्थी रही हैं. दिव्या ने महज़ 12 साल की आयु में 12वीं पास कर ली थी. हुआ कुछ ऐसा था की दिव्या से बड़ा उनका एक भाई है जिसका नाम है नीलोत्पल सैनी. जिस वक्त दिव्या का स्कूल में उनके माता पिता दाखिला करवा रहे थे उस वक़्त उनका भाई तीसरी कक्षा में पढ़ता था. दिव्या ने बहुत ज़िद्द की कि वो अपने भाई के साथ ही पढेंगी, और जब उन्हें मना किया गया तो दिव्या ने स्कूल जाना बंद कर दिया. ऐसे में दिव्या के भाई ने उन्हें घर में ही पढ़ाई करवाई और परीक्षा के लिए तैयार किया. महज़ छ: साल कि आयु में परीक्षा पास कर दिव्या ने छठी कक्षा में दाखिला लिया और इस प्रकार उन्होंने 12 साल की आयु में ही 12वीं पास कर ली.

दिव्या सैनी

डेढ़ करोड़ के सालाना पैकेज पर कर रही हैं दिव्या सैनी आज नौकरी

12वीं पास करने के बाद दिव्या और उनके भाई ने कॉलेज एम्एनआईटी से बी.टेक किया, और सिर्फ 17 साल कि उम्र में दिव्या का प्लेसमेंट हैदराबाद की कंपनी अमेज़न में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर पद -1 में 29 लाख के पैकेज में हुआ. कोरोना महामारी में जब दिव्या वर्क फ्रॉम होम कर रही थीं, तो उन्हें अमेरिका में स्थित अमेज़न से डेढ़ करोड़ के पैकेज का ऑफर आया जो दिव्या ने स्वीकार कर लिया.

दिव्या सैनी

इसके बाद दिव्या ने 15 जुलाई को यहां अपना जन्मदिन मनाया और अगले ही दिन दिव्या अमेरिका के लिए रवाना हो गयीं. अभी दिव्या अमेरिका में सीएटल में रह रही हैं, वहीँ उनका बड़ा भाई ह्यदेरबाद में डीईशा कंपनी में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर नौकरी कर रहा है, और हाल ही में दिल्ली में आयोजित ग्लोबल फाइबर चैलेंज में कांस्य पदक जीता है.

आर्टिकल पढ़ने के लिए धन्यवाद. और भी लेटेस्ट न्यूज़ के लिए देखे हमारी वेबसाइट संचार डेली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *