Breaking News
Home / Bollywood / IPL 2022: आंकड़े दे रहे हैं गवाही, मुंबई इंडियंस की बल्लेबाजी की सबसे कमजोर कड़ी हैं रोहित शर्मा और ईशान किशन

IPL 2022: आंकड़े दे रहे हैं गवाही, मुंबई इंडियंस की बल्लेबाजी की सबसे कमजोर कड़ी हैं रोहित शर्मा और ईशान किशन

मुंबई ने कब-कब जीते IPL खिताब

रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने साल 2013, 2015, 2017, 2019, 2020 के आईपीएल खिताब जीते हैं. मुंबई इंडियंस ने इस सीजन के लिए नीलामी में डिवाल्ड ब्रेविस, ईशान किशन, टिम डेविड, टाइमल मिल्स, डैनियन सैम्स और अर्जुन तेंदुलकर को शामिल किया है.

आईपीएल 15 में-

मुंबई इंडियंस का सफर लगभग खत्म हो चुका है. टीम को लखनऊ के खिलाफ भी हार का सामना करना पड़ा है. इस मैच में हार के बाद रोहित शर्मा और ईशान किशन पर काफी ज्यादा सवाल उठ रहे हैं.

अलावा आपको जानकर हैरानी होगी कि-

आईपीएल के पिछले दो सीजन में भी रोहित का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा है. उन्होंने आईपीएल 2021 में 13 मैचों में 381 रन बनाए थे. जिसमे उनका औसत केवल 29.30 का था. इसके अलावा आईपीएल 2020 में भी वो 27.66 के मामूली औसत के साथ 332 रन ही बना पाए थे. रोहित शर्मा 2013 के बाद कभी भी आईपीएल में 400 से ज्यादा रन नहीं बना पाए हैं. ऐसे में साफ़ है कि वो मुंबई इंडियंस की सबसे कमजोर कड़ी बन गए हैं.

ईशान पर भी खड़े हुए सवाल

ईशान किशन को मुंबई ने एक विस्फोटक बल्लेबाज़ के रूप में शामिल किया था, लेकिन उनका प्रदर्शन भी इस सत्र में गिरता ही जा रहा है. उन्होंने इस सीजन में पॉवरप्ले के दौरान सिर्फ 111.0 की औसत से रन बनाए हैं. इसके अलावा अगर 2020 के आईपीएल सीजन को हटा दें तो किशन भी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं.
उन्होंने आईपीएल 2021 में मात्र 26.77 की औसत से ही रन बनाए थे. इसके अलावा इस सत्र के शुरुआती दो मैचों में अच्छा करने के बाद वो लगातार तेज़ी से रन बनाने के लिए जूझ रहे हैं. बल्कि इस बार की नीलामी में वो आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे. अब उनकी फॉर्म को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं. ऐसे में साफ़ है कि ईशान किशन और कप्तान रोहित शर्मा इस सीजन में मुंबई की हार का सबसे बड़ा कारण रहे हैं. ऐसे में अगर मुंबई को आने वाले मैचों में अच्छा करना है तो ईशान और रोहित दोनों को ही अपने पुराने अंदाज़ में बल्लेबाजी करनी होगी.

About kavya Swaroop

Leave a Reply

Your email address will not be published.