Breaking News
Home / NEWS / भारी बर्फ़बारी ने भी न तोड़ा भारतीय सेना का मनोबल, पैदल ही प्रेग्नेंट औरत को पहुँचाया अस्पताल

भारी बर्फ़बारी ने भी न तोड़ा भारतीय सेना का मनोबल, पैदल ही प्रेग्नेंट औरत को पहुँचाया अस्पताल

भारतीय सेना की तारीफ़ में जितने शब्द बोलो उतने ही कम हैं. धूप हो , छांव हो , बारिश हो या बर्फ़बारी हो , भारतीय सेना देश की रक्षा के लिए हमेशा बॉर्डर पर तैनात है. खुद की जान भले ही खतरे में पड़ जाए लेकिन भारतीय सेना के ये जवान देश की सुरक्षा के लिए हमेशा आगे रहते हैं और इसके लिए वे अपने परिवार की तक चिंता नहीं करते , क्योंकि वे पूरे देश को ही अपना परिवार समझते हैं और उनके दुखों में पूरी तरह से उनके साथ खड़े रहते हैं. ऐसी ही इनकी जिंदादिली की एक खबर तेज़ी से वायरल हो रही है , आइये जानते हैं आगे.

भारी बर्फबारी में सैनिकों ने पहुँचाया प्रेग्नेंट औरत को अस्पताल

भारतीय सेना के सैनिक पूरे देशवासियों के दुःख को अपना समझते हैं , और हर परिस्तिथि में इनकी मदद करने के लिए पूरी तरह से तैयार रहते हैं. इनकी यही ज़िंदादिली इनको हर चुनौती के लिए तैयार करती है. चाहे कहीं बाढ़ आ जाये या कहीं हमले हो जाएँ , आप भारतीय सेना के जवानों को सबसे पहले वहाँ मदद के लिए पाएंगे. ऐसी ही कहानी है घग्गर हिल गाँव में रहने वाली एक प्रेग्नेंट महिला की. आइये जानते हैं क्या है वह पूरी बात.

भारतीय सेना ने समय पर पहुँचाया प्रेग्नेंट औरत को अस्पताल

हाल ही में घग्गर गांव में रहने वाली एक प्रेग्नेंट महिला की तबयत अचानक से बिगड़ गयी. जब भारतीय सेना के जवानों को इस बात का पता चला तो वे उस महिला को देखने गए. पर वहां महिला की तबयत बिगड़ती जा रही थी. डॉक्टरों की एक टीम भी महिला को देखने आयी पर महिला को एडमिट करना ज़रूरी था.

बाहर बर्फबारी इतनी थी की एम्बुलेंस वहां नहीं पहुँच सकती थी , इसीलिए जवानों ने बिना समय गंवाए महिला को कन्धों पर उठाया और ऐसे ही महिला को लेकर निकल पड़े. 6 किलोमीटर का लम्बा सफर तय करके वो भी इतनी बर्फबारी में इन्होने मानवता की एक नयी मिसाल कायम की. महिला को समय पर अस्पताल पहुँचाया गया और उनका इलाज़ हुआ. महिला का परिवार सहित सभी इन वीर जवानों का धन्यवाद कर रहे हैं और उन्हें खूब दुआएं दे रहे हैं.

About Bhanu Pratap

Leave a Reply

Your email address will not be published.