Breaking News
Home / Motivational / असफल नाटकों से लेकर पदमा श्री से सम्मानित होने तक का एकता का सफर!

असफल नाटकों से लेकर पदमा श्री से सम्मानित होने तक का एकता का सफर!

एकता कपूर बॉलीवुड की जानी मानी डायरेक्टर , टेलीविजन और फिल्म् निर्माता है। एकता कपूर को छोटे पर्दे की रानी भी कहा जाता है क्योंकि वह एकमात्र महीला निर्माता है जीने ना ही सिर्फ टेलीविजन के दौर में नाटक शुरू किया बल्की उन्होंने ऐसी कहानियां अपने सिरियल द्वारा बताई जिन्होने जनता का दिल जीत लिया।

एकता का परिवार

एकता कपूर मशहूर अभिनेत्र जीतू कपूर व शोभा कपूर की बेटी है। एकता के एक भाई है जो खुद अभिनेता है और उनका एक बेटा भी है।एकता बालाजी टेलीफिल्म्स लिमिटेड की ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर है और साथ ही उसकी क्रिएटिव डायरेक्टर भी। एकता कपूर ने ही 2017 में ऑल्ट बालाजी के नाम से एक ओटीटी प्लेटफॉर्म शुरू किया और वह प्लेटफॉर्म हिट भी रहा।

करियर

एकता कपूर ने 17 साल की उम्र से काम करना शुरू करदिया था हालाकि इतने मशहूर और अमीर माता पिता की बेटी होने के बावजूद उन्होंने अपनी जिम्मेदारियों को समझा और खुद अपना करियर बनाया। एकता शुरुआत से ही एक मेहनती और आत्मनिर्भर महीला रही है उनकी यही खूबियां सभी लड़कियों और औरतों के लिए एक प्रेरणा है। उन्होंने आज बालाजी टेलीफिल्म्स लिमिटेड को आज अलग ही ऊंचाइयों पर पोहचा दिया है। 1995 में आया “हम पांच” नाटक उनका पहला सफल प्रोजेक्ट था। 2000 में उन्हे “क” अक्षर अपने लिए लक्की लगा और उन्होंने अपने हर नाटक का नाम “क” अक्षर से रखना शुरू कर दिया। कहानी घर घर की, कभी सुलतान कभी सहेली ,कोई अपना सा ,कसौटी जिंदगी की, कही तो होगा और कसम से एकता के ही निर्माणित नाटकों में से है।2001 में एकता ने बेस्ट एंटरप्रेन्योर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड जीता। उनके 34 नाटकों में से 20 नाटक सुपर हिट थे और दर्शकों से उन्हे काफ़ी प्यार भी मिला। उनके बनाए हुए नाटक हर टेलीविजन चैनल का हिस्सा थे। स्तर प्लस , ज़ी टीवी और सोनी तीनों टेलीविजन चैनल्स पर सिर्फ एकता के ही नाटक छाए रहते थे। जब उनके नाटकों को कामयाबी मिलिशुरु हुई तो उन्होंने तमिल भाषा में भी “कुडुम्बम” नाम का एक नाटक बनाया जो की दर्शकों को खूब भाया।एकता ने तमिल नाटक के बाद पंजाबी , मराठी , गुजराती और बंगाली भाषा में नाटक बनाना शुरू किया और उन्हे सफलता भी मिली।2001 में निर्माता के रूप में एकता ने बॉलीवुड में भी अपने कदम रखे । उन्होंने “क्योंकि में झूठ नही बोलता” फिल्म बनाई जिसमें सुष्मिता सेन और गोविंदा थे और तब से लेकर आज तक एकता ने कृष्णा कॉटेज , क्या कूल है हम , द डर्टी पिक्चर जैसी कई फिल्में बनाई । 2020 में एकता को पदमा श्री से सम्मानित भी किया गया।

About komal

Leave a Reply

Your email address will not be published.