Breaking News
Home / Bollywood / 3 इडियट्स के असली ‘फुंसुक वांगड़ु’ से मिले आनंद महिंद्रा

3 इडियट्स के असली ‘फुंसुक वांगड़ु’ से मिले आनंद महिंद्रा

सोनम वांगचुक को जितना सिनेमा में दिखाया गया, वह उससे कहीं ऊपर की चीज हैं. कुछ साल पहले उन्होंने Ice Stupa नाम से आर्टिफिशियल ग्लेशियर तैयार किया था, जो वास्तव में सर्दियों की बर्फ को जमाकर गर्मियों के लिए पानी स्टोर करता है.करीब एक दशक पहले आई बॉलीवुड सिनेमा 3 Idiots अपने समय की बड़ी हिट रही थी. इसमें एक वाकई में रियल लाइफ इनोवेटर की कहानी फीचर की गई थी. दूसरी ओर आनंद महिंद्रा हैं, जो प्रसिद्द उद्योगपति हैं और कॉरपोरेट जगत में ये भी अपने इनोवेटिव सोच के लिए जाने जाते हैं. कैसा संयोग हो कि इनोवेशन के ऐसे दो पुराधाओं की मुलाकात हो. यह संयोग बना भी और इसका परिणाम भी बेहद सुखद निकलकर सामने आया.

महिंद्रा ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया फुनसुक वांगड़ु के साथ तस्वीर

आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। आनंद महिंद्रा अकसर इनोवेटिव आइडियाज के वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते है। आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया के माध्यम से आए दिन कई सारे जरूरतमंदों की मदद करके खबरों में बने रहते हैं। इस बार आनंद ने एक सोशल मीडिया पोस्ट शेयर की जिसमे वो असल जीवन के फुंसुक वांगड़ु यानी सोनम वांगचुक व उनकी पत्नी गीतांजलि के साथ नजर आ रहे है। 3 इडियट्स में राजू रस्तोगी की मां बनीं अमरदीप की रियल बेटी के सामने करीना हैं फेल

यूनिवर्सिटी प्रोजेक्ट पर हुई चर्चा

आनंद महिंद्रा फोटो के साथ में लिखते हैं, ‘ब्रिलिएंट सोनम वांगचुक और बराबर ब्रिलिएंट उनकी पार्टनर गीतांजलि से मिलना क्या ही शानदार अनुभव रहा! दोनों के साथ उनके यूनिवर्सिटी प्रोजेक्ट पर चर्चा हुई. 3 इडियट्स सिनेमा का नायक फुंसुक वांगड़ु सोनम से इंस्पायर्ड था, हालांकि वह कैरेक्टर बमुश्किल सोनम के साथ न्याय कर पाया. वह सही मायने में एक इनोवेटर हैं और देश की संपत्ति हैं.’

रियल लाइफ में वांगड़ु कई सारी इच्छाएं छू चुके है

सोनम वांगचुक को 3 इडियट्स फिल्म में काफी क्रिएटिव और इनोवेटिव दिखाया गया है, लेकिन वह उससे कहीं ज्यादा ऊपर की चीज हैं। कुछ साल पहले वांगचुक ने आइस स्तूपा नाम से आर्टिफिशियल ग्लेशियर को तैयार किया था, जो वास्तव में सर्दियों की बर्फ को जमाकर गर्मियों के लिए पानी स्टोर करने का काम करता है। वांगचुक ने 1988 में ही कुछ छात्रों के साथ मिलकर Students’ Educational and Cultural Movement of Ladakh (SECMOL) की स्थापना की थी। यहां के कैम्पस में खाना बनाने से लेकर रौशनी करने और गर्मी पैदा करने के लिए सिर्फ सोलर एनर्जी का ही इस्तेमाल होता है।

About kavya Swaroop

Leave a Reply

Your email address will not be published.