Breaking News
Home / Bollywood / अपने बेटे जाहान के निधन के दो महीने बाद, अभिनेता और लेखकशिव सुब्रमण्यम का हुआ निधन

अपने बेटे जाहान के निधन के दो महीने बाद, अभिनेता और लेखकशिव सुब्रमण्यम का हुआ निधन

शिव कुमार सुब्रमण्यम उर्फ शिव सुब्रमण्यम एक भारतीय अभिनेता, नाटककार, थिएटर कलाकार, फिल्म और नाटक निर्देशक और पटकथा लेखक थे, जिन्होंने हिंदी फिल्म ‘2 स्टेट्स’ (2014) में आलिया भट्ट के पिता की भूमिका निभाई थी। लंबी बीमारी और अग्नाशय के कैंसर के कारण 10 अप्रैल 2022 को उनका निधन हो गया।

दो महीने पहले बर्दाश्त किया था बेटे की मौत का सदमा

एक्टर के फैंस सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं. ऐसे में बीना सरवर ने एक ट्वीट किया. जिसमें उन्होंने बताया है कि दो महीने पहले एक्टर ने अपना बेटा भी खो दिया था. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा, ‘बहुत ही दुखद खबर. बेटे जहान की मौत के ठीक दो महीने बाद ही उनका भी निधन हो गया. शिव के बेटे जहान को ब्रेन ट्यूमर था.. 16वें बर्थडे से पहले ही उसकी मौत हो गई.’

शिव कुमार बॉलीवुड से लेकर टीवी की दुनिया में कमा चुके थे नाम

बता दें, शिव कुमार ने साल 1942 अ लव स्टोरी, परिंदा, इस रात की सुबह नहीं, चमेली और हजारों ख्वाहिशें ऐसी भी लिखी थीं. बतौर एक्टर उन्होंने फिल्म परिहार, दोहकाल, कमीने, टु स्टेट्स, हिचकी, तू है मेरा संडे, मीनाक्षी सुंदरेश्वर में काम किया था. शिव कुमार ने अपनी फिल्म परिंदा के लिए बेस्ट स्क्रीनप्ले फिल्मफेयर अवॉर्ड जीता था. तो वहीं उन्हें ‘हजारों ख्वाहिशें ऐसी’ के लिए भी अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था. फिल्म बॉम्बे बॉएज, स्निप, तीन पत्ती, स्टैनली का डब्बा, हैप्पी जर्नी औऱ नेल पॉलिश में भी एक्टर नजर आए थे. एक्टर ने इस दौरान टीवी की दुनिया में भी काम किया था. उन्होंने शो ‘मुक्ति बंधन’, अनिल कपूर के शो 24 और लाखों में एक शो में काम किया था.

निधन का कारण अभी तक अज्ञात है

शिव सुब्रमण्यम के निधन का कारण अभी तक अज्ञात है, फिल्म निर्माता हंसल मेहता थे, जिन्होंने शिव सुब्रमण्यम के जाने की घोषणा करते हुए अपने सोशल मीडिया हैंडल पर एक बयान साझा किया था। बयान में प्रसिद्ध अभिनेता के अंतिम संस्कार के विवरण का खुलासा हुआ और यह आज सुबह मुंबई में आयोजित किया जाएगा।1989 की फिल्म परिंदा से अपने अभिनय करियर की शुरुआत करने वाले सुब्रमण्यम को 1942: ए लव स्टोरी, इस रात की सुबह नहीं, अर्जुन पंडित, चमेली, हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी और तीन पत्ती जैसी फिल्मों के लिए पटकथा लिखने के लिए जाना जाता है। दिवंगत अभिनेता को 2 स्टेट्स, ‘तू है मेरा संडे’, ‘प्रहार’, ‘हिचकी’, ‘कमीने’, रॉकी हैंडसम और ‘स्टेनली का डब्बा’ जैसी फिल्मों में उनके उत्कृष्ट अभिनय के लिए भी जाना जाता था। सुब्रमण्यम को आखिरी बार करण जौहर की निर्मित नेटफ्लिक्स फिल्म मीनाक्षी सुंदरेश्वर में देखा गया था, जिसमें उन्होंने सान्या मल्होत्रा के पिता की भूमिका निभाई थी।

About kavya Swaroop

Leave a Reply

Your email address will not be published.