Breaking News
Home / Viral / घरेलू हिंसा की शिकार हुई भारती आज कैसे खुद के दम पर करोड़ो का काम संभाल रही है?

घरेलू हिंसा की शिकार हुई भारती आज कैसे खुद के दम पर करोड़ो का काम संभाल रही है?

घरेलू हिंसा के किस्से आप सभी ने अपने आस-पड़ोस में देखे ही होंगे और सुने भी होंगे भारत में पति पत्नी के रिश्ते को जितना प्यारा माना जाता है उतना ही भी यह भी देखा जाता है कि कई बार इंसान अपने जीवनसाथी को इंसान नहीं बल्कि जानवर से भी बदतर सलूक करता है ऐसा ही भारती के पति ने उसके साथ किया पर भारतीय उस चीज को संभाला और कैसे अपनी जिंदगी में आगे बढ़कर दूसरी औरतों के लिए प्रेरणा मिनी आइए आप जानते हैं।

घरेलू हिंसा

घरेलू हिंसा कैसे शुरू हुई?

आपको यह बता दे कि जब भारती अपनी शिक्षा ग्रहण कर रही थी तो दसवीं कक्षा में उनके पति की नजर उन पर पड़ी और उन्होने कहा की कि भारती को हाजीपुर नसीहत सही उसे शादी की इसके बाद जेल सभा फैसला शुरू को दरअसल भारती के पति को शराब पीनी की गंदी लक्खी जैसे वह सिद्धि आदत में छोड़ नहीं पा रहे थे सिफारिश कर दी के बाद भी मैं भारत की सोच बात ही सुंदर उधर पवित्र भारती भी हो गए थे पर उसके साथ घरेलू हिंसा नहीं रुके उसकी घरेलू हिंसा ने उसको इस कदर टूट दिया था कि वह डिप्रेशन में भी चली गई थी।

घरेलू हिंसा

कैसे निकली दुविधा से भारती?

भारती चीजों से खूब परेशान हो चुकी थी और उन्होंने अपने पति को समझाने की भी लाखों कोशिशे करी करवाओ फिर भी ना माने तो वह अपने माता-पिता के घर रहने चली गई अपने मायके जाने के बाद भारती कम से कम 1 महीना घर में ही बंद रही उन्हें डर था कि उनके पति उनके मायके आकर झगड़ा ना करें और उन्हें दोबारा पीटना शुरु ना करते भारतीय अपने साथ-साथ अपने छोटे दो बच्चों को भी ले आई थी वह एक महीना भारती के लिए काफी ज्यादा मुश्किल था वह मानसिक परेशानी से जूझ रही थी पर उस परेशानी के तौर पर उनकी कोई प्रेरणा या फिर आशा की किरण थी तो वह सर उनके बच्चे थे उनके बच्चों ने उनको बहुत हिम्मत दे साथ ही में उनके घर वालों ने भी भारती के भाई ने उन्हें समझाया कि उन्हें अब काम करना चाहिए ताकि वह अपने और अपने बच्चों के लिए कमा सके भारतीय ने अपने पिताजी की मदद से छह लाख का लोन लिया जिससे उन्होंने इस फैक्ट्री को ले जाओ लंच बॉक्स जैसे भी चीजें बनती हो और आज की तारीख में उनका कारोबार काफी ज्यादा बढ़ चुका है जैसे कंपनी भी उन्हें आर्डर देती है।

घरेलू हिंसा

आर्टिकल पढ़ने के लिए धन्यवाद और भी लेटेस्ट न्यूज़ के लिए देखे हमारी वेबसाइट संचार डेली.

About komal

Leave a Reply

Your email address will not be published.